Rajmangal Times - कारोबार

नई दिल्ली | भारतीय मुद्रा रुपया एशिया में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली करेंसी बन गई है। दरअसल, कोरोना महामारी की दूसरी लहर से सिर्फ दो हफ्ते में डॉलर के मुकाबले रुपया में बड़ी गिरावट आई है।

नई दिल्ली | कोरोना महामारी के बीच घरों की बिक्री तेजी से बढ़ी है। यानी गृह ऋण (होम लोन) की मांग भी इसी अनुपात में बढ़ी है। हालांकि, एक बार फिर से संक्रमण तेजी से बढ़ने से वित्तीय संकट का खतरा पैदा हो गया है।

नई दिल्ली | केंद्र सरकार की वैक्सीनेशन मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए बैंकों के आगे आने के बाद अब इंश्योरेंस कंपनियां भी इस दिशा में तैयारी कर रही हैं। सरकारी क्षेत्र के बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने ये पहल की है कि वो वैक्सीनेशन करा चुके लोगों को उनके फिक्स्ड डिपॉजिट पर अतिरिक्त ब्याज देगा।

नई दिल्ली | जल्द ही 70 साल उम्र तक के बुजुर्ग राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) की योजना में निवेश कर पाएंगे। दरअसल, पेंशन फंड रेगुलेटर पीएफआरडीए ने एनपीएस से जुड़ने की उम्र सीमा बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है।

नई दिल्ली | कोरोना की दूसरी लहर के शुरू होने के साथ ही फार्मा कंपनियों के शेयरों में निवेशकों ने पैसा झोंकना शुरू कर दिया है। बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चलाए जाने से फार्मा और हेल्थकेयर उत्पाद बनाने वाली कंपनियों को मोटा फायदा होने की उम्मीद की जा रही है।

नई दिल्ली | छह लाख से अधिक छोटे भारतीय व्यापारियों, वितरकों और विक्रेताओं के प्रतिनिधि असंभव सम्मेलन में एक साथ आगे आकर विदेशी ई- काॅमर्स कंपनियों के देश में कथित भेदभावपर्ण व्यवहारों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे और अपनी बात रखेंगे।

नई दिल्ली | कोरोना के बढ़ते मामले के बीच अर्थव्यवस्था की रिकवरी पटरी से न उतरे इसके लिए केंद्र सरकार एक और राहत पैकेज ला सकती है। ज्यादातर राज्य कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण नाइट कर्फ्यू और प्रतिबंध लगा रही हैं और इससे अर्थव्यवस्था के सुधार पर असर पड़ सकता है।

नई दिल्ली | अडाणी पोर्ट को एस एंड पी इंडेक्स से हटाने का फैसला लिया गया है। अडाणी पोर्ट को एस एंड पी डो जोंस इंडेक्स से बाहर कर दिया गया है। मंगलवार को जारी किए बयान के मुताबिक गुरुवार यानी 15 अप्रैल को स्टॉक मार्केट के खुलने से पहले ही इसे आधिकारिक तौर पर सूचकांक से हटा दिया जाएगा।

नई दिल्ली | भारत में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर के बीच वॉल स्ट्रीट की ब्रोकरेज कंपनी गोल्डमैन सैश ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए भारत की वृद्धि दर का अनुमान 10.9 प्रतिशत से घटाकर 10.5 प्रतिशत कर दिया है।

नई दिल्ली | सोना परंपरागत रूप से उपभोक्ताओं की पसंद रहा है। मौजूदा समय में भी कर्ज के कई विकल्प मिलने के बावजूद गोल्ड लोन सबसे आसानी से और सबसे जल्दी मिलता है। हालांकि, कोरोना संकट का गोल्ड लोन के कारोबार पर भी असर पड़ा है।

Videos

तुलसी संस्था व राजीव गांधी कैंसर इंस्टिट्यूट के सहयोग से कैंसर जांच शिविर का आयोजन

ताजा ख़बरें

Go to top

© Rajmangal Associates P. Ltd.