Rajmangal Times - कारोबार

नई दिल्ली। आम बजट से पहले ही आम आदमी का बजट बिगड़ चुका है। खाने-पीने के समानों के दाम आसमान छू रहे हैं। इस वजह से बीते दिसंबर में खाने-पीने के सामान के दाम में दोगुना से अधिक वृद्धि हुई है। राष्ट्रीय सांख्यकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर में खाद्य मुद्रास्फीति बढ़कर 4.05 प्रतिशत हो गई, जो इससे पिछले महीने 1.87 प्रतिशत थी। खाद्य महंगाई बढ़ने से दिसंबर में खुदरा महंगाई में भी तेज इजाफा हुआ है।

नई दिल्ली । केंद्र सरकार ने कहा है कि देशभर में खाद्य तेलों की खुदरा कीमतें वैश्विक बाजार के अनुरूप एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में ऊंची हैं, लेकिन अक्टूबर, 2021 के बाद से इनमें गिरावट का रुझान है। 167 मूल्य संग्रह केंद्रों के रुझान के अनुसार, देशभर के प्रमुख खुदरा बाजारों में खाद्य तेलों की खुदरा कीमतों में 5-20 रुपये प्रति किलोग्राम की भारी गिरावट आई है।

नई दिल्ली। सस्ता और आसानी से कर्ज लेने के लिए बेहतर क्रेडिट स्कोर बहुत जरूरी है। इसके कम होने या ज्यादा खराब होने पर बैंक आपको कर्ज देने से इनकार सकते हैं। लेकिन हाल ही में रिजर्व बैंक ने आरबीआई ने हाल में क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनीज रेगुलेशन 2006 में बदलाव किया है। इसके तहत कई फिनटेक कंपनियों को क्रेडिट ब्यूरो का डाटा एक्सेस करने की छूट दे दी गई है।

नई दिल्ली । नए साल में पीएनबी, एसबीआई और एचडीएफसी बैंक ने उपभोक्ताओं से जुड़े लेन-देन के नियमों में कई बदलाव किए हैं। इसमें पीएनबी ने न्यूनतम जमा सीमा दोगुना बढ़ाकर ग्राहको को बड़ा झटका दिया है। वहीं एसबीआई ने एटीएम से 10 हजार रुपये से अधिक की नकद निकासी पर ओटीपी अनिवार्य कर दिया है। जबकि एचडीएफसी बैंक ने एसएमएस शुल्क में भारी कटौती कर बड़ी राहत दी है।

नई दिल्ली । नए साल की शुरुआत हो गई है। साल के पहले दिन हर कोई रेजोल्यूशन लेकर उस पर अमल करना चाहता है। इस दिन कुछ ऐसा रेजोल्यूशन लेना चाहिए, जो आपकी लाइफ के तौर तरीके को बदल दे। इसके साथ ही आपकी फ्यूचर के संकट को भी टालने में मदद करे। ये रेजोल्यूशन वित्तीय जरूरतों से जुड़ा है।

नई दिल्ली। वैश्विक कीमतों में तेजी के बीच, भारत में सरकार के हस्तक्षेप के बाद खाद्य तेल की कीमतें लगातार नीचे आ रही हैं और रबी सत्र की सरसों की बेहतर फसल आने के बाद कीमतों के और घटने की उम्मीद है। खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने गुरुवार को यह कहा। अन्य आवश्यक खाद्य वस्तुओं के मामले में, उन्होंने कहा कि चावल और गेहूं की खुदरा कीमतें 'बहुत स्थिर'हैं, जबकि दालों की कीमतें स्थिर हो गई हैं। सब्जियों खासकर प्याज, आलू और टमाटर की खुदरा कीमतों में भी कमी आई है।

कानपुर। घर में रखे पुश्तैनी गहनों की शुद्धता की जांच भी अब कराई जा सकेगी। पुश्तैनी गहनों की शुद्धता के आधार पर हॉलमार्क सर्टिफिकेट दिया जाएगा, जिसकी रिपोर्ट ज्वैलर्स, बैंकर्स और गोल्ड लोन कंपनियों को माननी ही होगी। इस संबंध में भारतीय मानक ब्यूरो के हॉलमार्किंग विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक इंदरजीत सिंह ने निर्देश जारी किए हैं। देश के 256 शहरों में हॉलमार्किंग अनिवार्य करने के बाद बीआईएस का यह फैसला कई मायनों में काफी अहम माना जा रहा है।

नई दिल्ली । आगामी एक जनवरी से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली में कर दर और प्रक्रिया से संबंधित कई बदलाव होंगे। इनमें ई-कॉमर्स सेवा प्रदाताओं पर परिवहन एवं रेस्तरां क्षेत्र में दी जाने वाली सेवाओं पर कर देनदारी भी शामिल है। इसके अलावा फुटवियर और कपड़ा क्षेत्र में शुल्क ढांचे में बदलाव भी एक जनवरी 2022 से लागू होगा, जिसके तहत सभी प्रकार के फुटवियर पर 12 फीसदी जीएसटी (माल एवं सेवा कर) लगेगा, जबकि रेडीमेड कपड़ों समेत सभी टेक्साइटल उत्पादों (कपास को छोड़कर) पर 12 फीसदी जीएसटी लगेगा।

नई दिल्ली । महंगाई की पिच पर 2021 में पूरे साल खाद्य तेलों की ताबड़तोड़ बैटिंग जारी रही। वहीं, पिछले एक साल आलू, प्याज सस्ते हुए तो टमाटर डेढ़ गुना उछला। हालांकि, दालों ने थोड़ी राहत जरूर दी। जबकि, रोजमर्रा के काम काम आने वाली आवश्यक वस्तुओं में जहां नमक एक साल में 7.31 फीसद महंगा हुआ तो खुली चाय 15.31 फीसद। वहीं, गुड़ भी इस अवधि में 2.36 फीसद महंगा हो गया। जबकि, दूध में 5.17 और चीनी के रेट में 4.45 फीसद का उछाल आया।

नई दिल्ली । नया साल आते ही वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) अधिकारी गलत जीएसटी रिटर्न भरने वाले व्यापारियों के खिलाफ वसूली के लिए सीधे कदम उठा सकेंगे। इस कदम से गलत बिल दिखाने की प्रवृत्ति पर रोक लगाने में मदद मिलेगी। अक्सर यह शिकायत मिलती है कि अपने मासिक जीएसटीआर-1 फॉर्म में ज्यादा बिक्री दिखाने वाले कारोबारी कर देनदारी को कम करने के लिए भुगतान से संबंधित जीएसटीआर-3बी फॉर्म में इसे कम करके दिखाते हैं।

Videos

दिगम्बर नागाबाब प्रभ दर्शन हॉस्पीटल के निर्माण हेतु विधायक श्री श्यामसुंदर शर्मा द्वारा आश्वासन

ताजा ख़बरें

Go to top

© Rajmangal Associates P. Ltd.