वॉशिंगटन: डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन के साथ अपनी आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने चीन और रूस के साथ भारत का भी जिक्र किया है. ट्रंप ने कहा है कि भारत, रूस और चीन की आबोहवा खराब है.

जलवायु परिवर्तन पर बहस के दौरान ट्रंप ने कहा, "चीन को देखो कितना प्रदूषण है. रूस को देखो, भारत को देखो, यहां आबोहवा कितनी खराब है. अमेरिकी में सबसे अच्छी हवा, सबसे साफ पानी है. यहां कार्बन उत्सर्जन कम करने के सबसे बेहतर उपाय हैं."

कोरोना वैक्सीन पर क्या बोले ट्रंप-बिडेन

ट्रंप ने प्रेसिडेंशियल डिबेट में कहा है कि 'इस साल के अंत तक कोरोना वैक्सीन की घोषणा हो जाएगी. कोरोना की वजह से हम देश को बंद नहीं कर सकते और जो बिडेन की तरह बेसमेंट में नहीं रह सकते.'

इस पर बिडेन ने आरोप लगाया कि ट्रंप के पास कोरोना के खात्मे की कोई योजना नहीं है और ट्रंप को चुनाव के लिए अयोग्य घोषित किए जाने की मांग की. बिडेन ने कहा कि 'इतने लोगों की मौत के जिम्मेदार व्यक्ति को राष्ट्रपति पद पर बने रहने का हक नहीं है. अमेरिका में कोरोना से 2.20 लाख मौत के बाद ट्रंप को चुनाव के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाना चाहिए.'

आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट की शुरुआत में बिडेन ने यह कहते हुए ट्रंप पर निशाना साधा कि 'एक बडे़ जर्नल ने अमेरिकी राष्ट्रपति के बर्ताव को पूरी तरह से भयावह बताया है.' इस पर पलटवार करते हुए ट्रंप ने कहा कि 'अब तक हमने जो कुछ किया है उसके लिए कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने धन्यवाद दिया है.'