नई दिल्ली | इक्वेटोरियल गिनी के सबसे बड़े शहर बाटा में एक सैन्य अड्डे पर रविवार को एक के बाद एक जोरदार धमाके हुए। इसमें में 17 लोगों की मौत हो गई और 400 से अधिक घायल हो गए। रिपोर्ट के मुताबिक धमाके की चपेट में आए इलाकों में स्थित घरों की लोहे की छत भी टूट गईं।

सब कुछ मलबे में बदल गया। ज्यादातर घरों में केवल एक या दो ही दीवार रह गईं।

अल जज़ीरा ने राष्ट्रपति तियोदोरो ओबियांग के हवाले से कहा कि धमाके सैन्य अड्डे पर डायनामाइट के इस्तेमाल से जुड़ी लापरवाही के कारण हुए। शुरू में कहा गया था कि 15 लोग मारे गए और 500 लोग घायल हुए हुए हैं जबकि देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बाद में 17 लोगों की मौत की बात कही और कहा कि विस्फोट में 420 लोग घायल हुए हैं। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुए, अल जज़ीरा ने आगे कहा कि लोगों को मलबे के ढेर से शव खींचते देखा गया था, जिनमें से कुछ बेडशीट में लिपटे हुए थे।

गिनी के स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्वीट करके स्वयंसेवी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को घायलों को बाटा के स्थानीय अस्पताल ले जाने को कहा है। लोगों से अपील भी की गई है कि वे घायलों की मदद के लिए आगे आएं और रक्तदान करें. वहीं, मीडिया ने भी लोगों से रक्तदान करने के लिए अपील भी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अस्पलात लोगों से भरे हुए हैं. धमाके में घायलों से पिकअप ट्रक भर गए हैं, जिनमें कई बच्चे है।घायलों को एक स्थानीय अस्पताल पहुंचाया गया है, जहां कुछ पीड़ितों को फर्श पर पड़ा हुआ देखा गया।