नई दिल्ली । तालिबान ने अफगानिस्तान में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मैच ब्रॉडकास्ट करने पर रोक लगा दी है। तालिबान ने इसके लिए पहले ही अफगान मीडिया को चेतावनी दी थी कि आईपीएल में महिला दर्शक होती हैं और इस वजह से मैचों को अफगानिस्तान में ब्रॉडकास्ट ना किया जाए। तालिबान ने जब से अफगानिस्तान पर कब्जा किया है, तब से इस देश में क्रिकेट के भविष्य पर भी सवालिया निशान लग गए हैं।

अफगानिस्तान के न्यूज चैनल TOLO के सीनियर जर्नलिस्ट फवाद अमन ने ट्विटर के जरिए इसकी जानकारी देते हुए, इसके बहुत ही बेहूदा कदम बताया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'बेहूदाः तालिबान ने अफगानिस्तान में इंडियन प्रीमियर लीग के ब्रॉडकास्ट पर रोक लगा दी है। तालिबान ने अफगान मीडिया आउटलेट्स को इसको लेकर वॉर्निंग दी थी कि आईपीएल के दौरान महिलाएं नाचती हैं और स्टेडियम में मैच देखने भी जाती हैं।' इससे पहले अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) में भी एक बड़ा बदलाव देखने को मिला।


तालिबान ने अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) के एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर हामिद शिनवरी को पद से हटा दिया है। शेनवारी ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर सोमवार को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि अनस हक्कानी ने उन्हें उनके पद से हटा दिया है। हामिद ने बताया कि उन्हें पद से हटाने की कोई वजह नहीं बताई गई है, लेकिन बताया कि उन्हें कहा गया है कि नसीबुल्लाह हक्कानी उनकी जगह लेगा।