भरतपुर। भरतपुर के गांव महलपुर चूरा में एक बैंक कैशियर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कैशियर की छह महीने पहले ही नौकरी लगी थी। बैंक कैशियर ने किसी ग्राहक को 1.20 लाख रुपये का ज्यादा भुगतान कर दिया था। जिससे वह डिप्रेशन में आ गया था। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार रुदावल एसएचओ महावीर प्रसाद के अनुसार महलपुर चूरा निवासी मोहित सिंह (25) पुत्र लेखराज सिंह ने गुरुवार रात फांसी लगा ली।

जब शुक्रवार सुबह तीन बजे उसकी मां पानी पीने के लिए उठी तो देखा कि उसका बेटा मोहित साड़ी के फंदे से लटका है। मां की चीख सुन कर पड़ोसी मौके पर जमा हो गए। जिन्होंने शव को नीचे उतार पुलिस को सूचना दी।

मोहित की छह महीने पहले पंजाब नेशनल बैंक में पीओ के पद पर नौकरी लगी थी। वह आगरा जिले के फतेहपुर सीकरी के पास गांव दूरा स्थित ब्रांच में कार्यरत था। बताया जा रहा है कि उसने दो बार ग्राहकों को ज्यादा भुगतान कर दिया। इसपर उसे 1.20 लाख रुपए बैंक में जमा कराने पड़े।

इस मामले के बाद से ही वह डिप्रेशन में था। मोहित की फरवरी 2022 में वंदना से शादी हुई थी। उसकी पत्नी चार दिन पहले करौली में ननद के ससुराल एक शादी में गई थी। घर पर सिर्फ बैंककर्मी और उसकी मां थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया है।