डेरा सच्चा सौदा अनुयायी की मौत के मामले में दो और संदिग्ध शूटर को गिरफ्तार किया गया है। पंजाब पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि हरियाणा के तीन शूटर को रसद मुहैया कराने के आरोप में मुक्तसर जिले के एक निवासी को भी गिरफ्तार किया गया है। सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी प्रदीप सिंह की छह हमलावरों ने 10 नवंबर को पंजाब में फरीदकोट के कोटकापूरा में गोली मारकर हत्या कर दी थी।

वह 2015 के बरगढ़ी ईशनिंदा मामले में आरोपी था। सिंह को पुलिस संरक्षण प्राप्त था।

पंजाब के पुलिस महानिदेशक गौरव यादव ने बृहस्पतिवार को बताया कि प्रदीप सिंह की हत्या के मामले में होशियारपुर से मनप्रीत उर्फ ​​मणि (26) और भूपिंदर उर्फ ​​गोल्डी (22) नाम के दो शूटर को गिरफ्तार किया गया है। ये फरीदकोट जिले के रहने वाले हैं। यादव ने कहा कि पंजाब पुलिस ने पहले ही दिन दो मुख्य शूटर- मनप्रीत मणि और भूपिंदर गोल्डी की पहचान कर ली थी और इसके तुरंत बाद एक व्यापक अभियान शुरू किया गया था।

उन्होंने कहा, ‘‘एक खुफिया नेतृत्व वाले संयुक्त अभियान के तहत काउंटर इंटेलिजेंस जालंधर, होशियारपुर पुलिस और फरीदकोट पुलिस ने दोनों शूटरों को होशियारपुर जिले के बाहरी इलाके से उस समय गिरफ्तार किया जब वे हिमाचल प्रदेश भागने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे।’’ उन्होंने कहा कि गिरफ्तार किये गये दोनों शूटरों के खिलाफ जबरन वसूली और अन्य अपराधों से संबंधित मामले लंबित हैं तथा उनकी पूछताछ से कनाडा स्थित आतंकवादी गोल्डी बरार और उसके सहयोगियों के नेटवर्क द्वारा रची गई साजिश का पर्दाफाश होने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि नेटवर्क ने संबंधित अपराध में कथित तौर पर सूत्रधार के रूप में काम किया है। यादव ने कहा, ‘‘कनाडा का बदमाश गोल्डी बरार अनुयायी की हत्या का मुख्य साजिशकर्ता है।’’ उन्होंने कहा, “फरीदकोट पुलिस ने बलजीत उर्फ मन्ना को हरियाणा के तीन शूटर को रसद मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया है।” बरार पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में भी मुख्य आरोपी है, जिसकी मई में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

इससे पहले, हत्या के कुछ घंटों के भीतर दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पटियाला से तीन संदिग्ध शूटर को पकड़ा था। संदिग्धों में से एक की पहचान जितेंद्र के रूप में हुई है, जबकि दो नाबालिग हैं। फरीदकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजपाल सिंह ने कहा कि पुलिस को नाबालिगों से पूछताछ के लिए अनुमति मिल गई है। पुलिस के मुताबिक, चार शूटर हरियाणा के, जबकि दो पंजाब के थे। इस घटना में सिंह के साथ दो लोगों को भी गोली लगी है।