लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में आज अखिलेश यादव को तीसरी बार अध्यक्ष चुन लिया गया। उनके निर्विरोध निर्वाचन का ऐलान राष्ट्रीय महासचिव ओर निर्वाचन अधिकारी राम गोपाल यादव ने किया। राम गोपाल ने कहा कि अखिलेश के नाम का प्रस्ताव माता प्रसाद पांडे, आलम बदी समेत 75 नेताओं ने किया। केवल एक ही नामांकन किया। इसलिए अखिलेश यादव अध्यक्ष चुन लिया गया। अखिलेश ने जया बच्चन के पैर छुए।

अध्यक्ष चुने जाने के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि यह पद नहीं बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है। इस समय लोकतंत्र खतरे में है। आने वाले 5 साल में समाजवादियों को इतिहास बनाना है। हम सब मिल कर सपा को अन्य राज्यों में फैला कर राष्ट्रीय पार्टी बनाए।

अखिलेश ने कहा कि हम और व्यापक स्तर पर सदस्यता अभियान चलाएंगे। हम लोहियावादी व अंबेडकर वादियों को साथ लाकर आगे बढ़ेंगे। इतिहास के जानकार जानते हैं कि एक देश मे प्रोपेगैंडा मिनिस्टर होते थे। लेकिन यहां पूरी भाजपा प्रोपेगेंडा के सहारे चल रही है। अखिलेश ने एक फ़िल्म के सहारे भाजपा झूठा बताया। हम लोग नवरात्र में मां दुर्गा से प्रार्थना करें कि भाजपा सच बोले

रमाबाई मैदान में आज शुरू सम्मेलन में मंच पर प्रमुख वरिष्ठ नेताओं के साथ सांसद जया बच्चन भी मौजूद हैं। इससे पहले इकबाल कादरी ने स्वागत भाषण में कहा कि अगर हम लोग लोकसभा में 50 से ज्यादा सीट ले आए तो कोई भी सरकार अखिलेश के समर्थन के बिना नहीं बन सकती है।

इससे पहले बुधवार को समाजवादी पार्टी के राज्य सम्मेलन में मंगलवार को नरेश उत्तम को फिर प्रदेश अध्यक्ष चुन लिया गया है। वह तीसरी बार प्रदेश अध्यक्ष बने हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नरेश उत्तम से हाथ मिलाकर बधाई देते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में सपा का आंदोलन और आगे बढ़ेगा। साथ ही पार्टी और ताकतवार होकर आगे बढ़ेगी।