नई दिल्ली । केंद्र सरकार का कहना है कि देश में बेरोजगारी घटी है। केंद्र ने सोमवार को संसद में बताया कि 2019-20 और 2020-21 के बीच बेरोजगारी दर 0.6% घटकर 4.8% से 4.2% पर आ गई। सरकार ने इसे लेकर सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण (PLFS) के आंकड़ों का हवाला दिया है। श्रम और बेरोजगारी राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि PLFS के आंकड़े बताते हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ ही पूरे देश में बेरोजगारी दर में गिरावट का रुख है।

उन्होंने बताया कि बेरोजगारी दर राष्ट्रीय स्तर पर 2018-19 में 5.8% से घटकर 2020-21 में 4.2% पर आ गई, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में इसी अवधि के दौरान यह दर 5% की तुलना में 3.3% हो गई।

सिक्किम में सबसे अधिक श्रमिक जनसंख्या अनुपात
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 2020-21 में श्रमिक जनसंख्या अनुपात सबसे अधिक सिक्किम (71.3%) में रहा। इसके बाद हिमाचल प्रदेश (69.5%) और छत्तीसगढ़ (63.6%) थे। बिहार में सबसे कम (39.9%) था, जबकि लक्षद्वीप में 40.1% और मणिपुर में 41% था।

बेरोजगारी दर में कमी आने के मकसद से आत्मानिर्भर भारत और महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी स्कीम जैसी योजनाओं लागू हैं। केंद्रीय राज्य मंत्री तेली ने कहा कि इन योजनाओं के तहत रोजगार सृजन के साथ रोजगार क्षमता में सुधार सरकार की प्राथमिकता है।


'2 साल में विमानन क्षेत्र में 1 लाख रोजगार की उम्मीद'
वहीं, नागर विमानन मंत्रालय ने कहा है कि भारतीय विमानन क्षेत्र में अगले दो साल के दौरान एक लाख और लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। लोकसभा में सोमवार को पेश एक रिपोर्ट के अनुसार, विमानन मंत्रालय ने संसदीय समिति को बताया, 'अनुमान बताते हैं कि विमानन और वैमानिकी विनिर्माण क्षेत्र में फिलहाल सीधे तौर पर करीब 2,50,000 लोगों को रोजगार मिला है।'