उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में बीते मंगलवार को दर्जी कन्हैयालाल के हत्यारों ने दुकान के बजाय उनके घर में घुसकर हमला करने की प्लानिंग की थी। हालांकि जब हत्यारों को उनके घर का पता नहीं मिला तो दुकान में जाकर बेरहमी से कन्हैयालाल का सिर काट डाला। मामले की जांच कर रहे एक अफसर ने यह जानकारी दी।


जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर धमकी मिलने के बाद कन्हैयालाल ने अपनी दुकान बंद कर दी थी। दूसरी ओर गौस मोहम्मद और मोहम्मद रियाज कन्हैया पर हमला करने के लिए उसे खोज रहे थे। इस दौरान दोनों अपराधियों को लगा कि दुकान पर कन्हैयालाल पर हमला करना आसान होगा। इसके बाद उन्होंने हमला करने का समय तय किया और आगे की प्लानिंग की।

वकीलों ने जमकर किया विरोध
इससे पहले गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों को वकीलों के विरोध के बीच गुरुवार को उदयपुर की एक अदालत में पेश किया गया। इस दौरान वकीलों ने आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करते हुए नारेबाजी की। फिलहाल कोर्ट ने दोनों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वहीं गौस और रियाज को अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में शिफ्ट कर दिया गया है।