नई दिल्ली । आज से 48 साल पहले भारत ने पहला सफल परमाणु परीक्षण किया था। इस ऑपरेशन का कोड नाम स्माइलिंग बुद्धा रखा गया था। 18 मई 1974 को यह परीक्षण राजस्थान के पोखरण क्षेत्र में सेना के टॉप अधिकारियों के निगरानी में किया गया था। यह एक शांतिपूर्ण परीक्षण था जिसने भारत को उन देशों में जोड़ दिया जिन्होंने परमाणु परीक्षण किया था। भारत ऐसा करने वाला दुनिया का छठा देश था।

रिपोर्ट्स बताती हैं कि यह परीक्षण इंडियन न्यूक्लियर रिसर्च इंस्टिट्यूट भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर (BARC) के तत्कालीन निदेशक राजा रमन्ना की देखरेख में किया गया था। इस ऑपरेशन को 'स्माइलिंग बुद्धा' इसलिए कहा गया क्योंकि यह उस साल बुद्ध पूर्णिमा पर इसे अंजाम दिया गया था। रिपोर्ट्स बताती हैं कि परीक्षण के बाद डॉ रमन्ना ने तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी से कहा था, 'बुद्ध मुस्कुराए हैं।'

1972 में प्रोजेक्ट पर विस्तार से शुरू हुआ था काम

रिपोर्ट्स के मुताबिक 7 सितंबर 1972 को यह योजना तब शुरू हुई थी जब तत्कालीन पीएम गांधी ने BARC के वैज्ञानिकों को स्वदेशी रूप से डिजाइन किए गए परमाणु उपकरण को विस्फोट करने के लिए अधिकृत किया था। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के पांच देशों के अलावा किसी अन्य देश द्वारा किया गया पहला परमाणु हथियार का सफल परीक्षण था।


इस परीक्षण के बाद अमेरिका सहित कई देशों ने भारत पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे क्योंकि उन देशों का मानना था कि भारत के इस कदम से परमाणु प्रसार को बढ़ावा मिलेगा।