नई दिल्ली । कोरोना महामारी का हमारे स्वास्थ्य और आर्थिक हालात पर गहरा असर पड़ा है। हम सबने बीते दो साल का समय महामारी के साये में गुजारा है। कोविड-19 के इंफेक्शन से दुनियाभर में करीब 60 लाख लोगों की मौत हुई और हजारों लोगों की नौकरी चली गई। कई देशों की अर्थव्यवस्था का बुरा हाल है। हालांकि, दुनिया के 10 सबसे अमीर लोगों पर कोरोना काल का असर नहीं दिखा, उनकी दौलत इस दौरान भी बढ़ती चली गई।

ऑक्सफैम की रिपोर्ट में बताया गया है कि कोरोना काल में टॉप 10 अमीरों की दौलत दोगुनी हो गई। रिपोर्ट के मुताबिक, "महामारी के दौरान तकरीबन हर दिन एक नया अरबपति तैयार हुआ, जबकि दुनिया की 99 फीसदी आबादी पर लॉकडॉउन, अंतरराष्ट्रीय व्यापार में मंदी और कम यातायात की कड़ी मार पड़ी। इसके चलते 160 मिलियन और ज्यादा लोग गरीबी की दलदल में चले गए।"

99 फीसदी आबादी की आर्थिक स्थिति और ज्यादा खस्ता
रिपोर्ट में पॉसिली पेपर को 'असमानता जान लेती है' टाइटल दिया गया है। इसमें बताया गया है, "दुनिया के 10 सबसे अमीर लोगों की दौलत महामारी की शुरुआत से अब तक दोगुनी हो गई है, जबकि 99 फीसदी आबादी की आर्थिक स्थिति और ज्यादा खस्ता हुई है। इस दौरान गरीब आबादी के बीच आर्थिक स्थिति, जेंडर गैफ और जातीय भेदभाव बड़ा है।"

दुनिया के 10 सबसे अमीर व्यक्ति
फोर्ब्स के आंकड़ों के अनुसार, दुनिया के 10 सबसे अमीर व्यक्ति हैं: एलोन मस्क, जेफ बेजोस, बर्नार्ड अरनॉल्ट एंड फैमिली, बिल गेट्स, लैरी एलिसन, लैरी पेज, सर्गेई ब्रिन, मार्क जुकरबर्ग, स्टीव बाल्मर और वॉरेन बफे। मार्च 2020 और नवंबर 2021 के बीच संयुक्त रूप से इनकी संपत्ति $700 बिलियन से बढ़कर $1.5 टिलियन हो गई। जहां मस्क ने 1,000% से अधिक की वृद्धि दर्ज की, वहीं गेट्स की दौलत 30% बढ़ोतरी हुई।