नई दिल्ली | सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से अप्रैल तक ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके कोविशील्ड की 4.5 करोड़ और खुराक 200 रुपये प्रति खुराक खरीदने की प्रतिबद्धता जताई है, जिस पर कर का अलग से भुगतान किया जाएगा।

इससे पहले सरकार ने कंपनी को 1.1 करोड़ खुराकों का ऑर्डर दिया है।

सोमवार को दिए गए ऑर्डर के अनुसार टीके की प्रत्येक खुराक का मूल्य 200 रुपये होगा और उस पर 10 रुपये जीएसटी के साथ कुल लागत 210 रुपये आएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड ने टीकों की आपूर्ति के लिए ऑर्डर दिया। सूत्रों के अनुसार, कोविशील्ड की 1.1 करोड़ खुराकों के पहले ऑर्डर की लागत 231 करोड़ रुपये आएगी, वहीं भविष्य में मिलने वाली 4.5 करोड़ खुराकों समेत कुल कीमत मौजूदा दर पर लगभग 1,176 करोड़ रुपये रहेगी।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) में सरकारी और नियामक मामलों के अतिरिक्त निदेशक प्रकाश कुमार सिंह तथा उपाध्यक्ष (सरकारी कामकाज) आर एस मनकू ने एक पत्र में कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से अप्रैल 2021 तक टीके की 4.5 करोड़ और खुराक खरीदने की प्रतिबद्धता व्यक्त की गई है, जिसमें प्रति खुराक का मूल्य 200 रुपये होगा और इस पर जीएसटी लगेगा। कोविशील्ड टीके की 11 जनवरी की तारीख को दिए गए 1.1 करोड़ खुराकों की आपूर्ति के आगे का ऑर्डर है। डीसीजीआई ने तीन जनवरी को टीके के आपात स्थिति में सीमित उपयोग की स्वीकृति दे दी थी। सरकार ने सोमवार को भारत बायोटेक को भी स्वदेश विकसित टीके कोवैक्सीन की 55 लाख खुराकों का 162 करोड़ रुपये में खरीद के लिए ऑर्डर दिया था।