नई दिल्ली । मणिपुर में बनाई जा रही जिरीबाम-इंफाल रेल लाइन पर यात्री ट्रेनें आधा सफर सुरंगों के भीतर पूरा करेंगी। इस रेल लाइन की कुल लंबाई 110 किलोमीटर है और आधे से अधिक हिस्से करीब 62 किलोमीटर में सुरंगें बनाने के लिए खुदाई हो रही है। इस रेल लाइन पर सगाइथल सुरंग 10 किलोमीटर से अधिक लंबी है, जोकि पूर्वोत्तर भारत की सबसे लंबी सुरंग है। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे की इस महत्वपूर्ण जिरीबाम-इंफाल रेल लाइन परियोजना पर कुल 46 सुरंगें बनाई जा रही हैं।

सुरंग बनाने के लिए रेलवे करीब 62 पहाड़ों की खुदाई कर रही है। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि 56.68 फीसदी खुदाई का काम पूरा किया जा चुका है। रेल लाइन के सगाइथल स्थान पर बनाई जा रही सुरंग 10.28 किलोमटर लंबी है। जोकि पूर्वोत्तर की सबसे लंबी सुरंग है।

मुख्य अभियंता संदीप शर्मा ने बताया कि इस रेल मार्ग पर यात्री ट्रेनें आधी दूरी सुरंगों के माध्यम से पूरी करेंगी। उन्होंने बताया कि इस मार्ग पर कुल 10 रेलवे स्टेशन होंगे। इस परियोजना पर छोटे-बड़े 151 रेल पुलों का निर्माण किया जा रहा है। परियोजना पर कुल 14,322 करोड रुपये की लागत आएगी।