नई दिल्ली । देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार गिरावट जारी है। फेस्टिव सीजन से पहले लगातार 5वें दिन 20,000 से कम केस मिले हैं। बुधवार को आए आंकड़ों के मुताबिक बीते एक दिन में महज 15,823 नए केस ही मिले हैं। इसके अलावा इसी दौरान 22,844 लोग रिकवर हुए हैं। इसके साथ ही एक्टिव केसों की संख्या तेजी से कम होते हुए 2,07,653 ही रह गई है। यह आंकड़ा बीते 214 दिनों में सबसे है। देश में कोरोना का रिकवरी रेट तेजी से बढ़ते हुए 98.06% हो गया है, जो मार्च 2020 से सबसे अच्छी स्थिति है।

अब तक देश में कोरोना संक्रमण से 3,33,42,901 लोग रिकवर हो चुके हैं।


कुल केसों के मुकाबले एक्टिव केसों का प्रतिशत देखें तो यह भी अब 0.61% ही बचा है, जो मार्च 2020 से सबसे कम है। कोरोना के नए केसों की रफ्तार जिस तरह से कम हो रही है, उससे आने वाले दिनों में संक्रमण से जीतने की उम्मीदें बढ़ गई हैं। इसी साल अप्रैल और मई के दौरान कोरोना केसों के कहर को देखते हुए अब स्थिति काफी अच्छी है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक टीकाकरण के चलते भी यह स्थिति देखने को मिली है। अब तक देश में 96.43 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीके लगाए जा चुके हैं। यही नहीं इसी महीने के अंत तक यह आंकड़ा एक अरब के पार पहुंच सकता है।

कोरोना टीकों की यह रफ्तार कोरोना के खिलाफ जंग में उत्साह बढ़ाने वाली है। बता दें कि केंद्र सरकार ने इस साल के अंत तक सभी वयस्कों को कोरोना टीका लगाने का ऐलान किया है। वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत इसी साल 15 जनवरी को हुई थी। तब से अब तक देश में इतनी बड़ी संख्या में टीके लगना कोरोना के खिलाफ जंग में एक बड़ी बढ़त है। गौरतलब है कि फेस्टिव सीजन से पहले कोरोना से मिली राहत ने बाजार की उम्मीदें भी परवान चढ़ा दी हैं। दिवाली के आसपास इससे बाजार में रौनक बढ़ सकती है। इससे इकॉनमी को रफ्तार मिलने की उम्मीद जताई जा रही है और बीते दो तिमाहियों के आंकड़े भी इसका संकेत देते हैं।