लखीमपुर खीरी । लखीमपुर कांड में आरोपी अंकित दास घर पर चस्‍पा होने के थोड़ी देर बाद ही अपना बयान दर्ज कराने लखीमपुर में क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गया। एसआईटी ने आज ही उसके लखनऊ स्थित आवास के बाहर नोटिस चस्‍पा किया था। अंकित से 13 अक्‍टूबर को क्राइम ब्रांच के लखीमपुर खीरी स्थित दफ्तर पहुंचकर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया था। इसके थोड़ी देर बाद अंकित अपने वकीलों के साथ बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गया।

पुलिस अंकित के ड्राइवर से पहले ही पूछताछ कर चुकी है।

बुधवार सुबह पुलिस ने अंकित के नाम जारी नोटिस को उनके आवास पर चस्‍पा किया। आरोप है कि घटना के दिन अंकित दास मौके पर मौजूद था। गौरतलब है कि लखीमपुर हिंसा मामले में मुख्‍य आरोपी और केंद्रीय गृहराज्‍य मंत्री आशीष मिश्रा की पुलिस रिमांड का आज दूसरा दिन है। पुलिस आशीष से लखीमपुर हिंसा के राज उगलवाने के लिए पूछताछ कर रही है। तीन अक्‍टूबर को लखीमपुर में हुई हिंसक झड़प में चार किसान, भाजपा कार्यकर्ता और पत्रकार सहित कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में किसानों को थार जीप से कुचलकर हत्‍या किए जाने का आरोप लगा है। यह थार जीप केंद्रीय गृहराज्‍य मंत्री अजय मिश्रा टेनी की थी। किसानों का आरोप है कि घटना के वक्‍त मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा मौजूद था। किसानों की मौत के लिए वही जिम्‍मेदार है। वहीं मंत्री अजय मिश्र टेनी शुरू से अपने बेटे आशीष को निर्दोष बता रहे हैं। इसी घटना के दौरान अंकित दास पर भी मौजूद रहने के आरोप लगे हैं।

अब क्राइम ब्रांच ने उन्‍हें उनका पक्ष रखने और बयान दर्ज कराने के लिए तलब किया है। माना जा रहा है कि अंकित के बयान से लखीमपुर घटनाक्रम के बारे में कई ऐसी जानकारियां मिल सकती हैं जो अभी तक पुलिस के पास नहीं हैं।