नई दिल्ली। भारत कोरोना की दूसरी लहर के बीच मेडिकल ऑक्सीजन और जीवनरक्षक दवाइयों की किल्लत का सामना कर रहा है। संकट की इस घड़ी में तीनों सेना आम नागरिकों के बचाव में आ खड़ी हुई है। भारतीय वायुसेना ने बुधवार को कहा कि वह चार देशों से 11 ऑक्सीजन कंटेनर और 350 ऑक्सीजन सिलेंडर लाने की प्रक्रिया में है।

वायुसेना ने एक बयान में कहा कि एक आईएल-76 विमान सिंगापुर से 350 ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर हिंडन स्थित वायुसेना के अड्डे पर आ रहा है तो एक एन्य आईएल-76 बैंकॉक से तीन क्रायोजेनिक ऑक्सीजन कंटेनर लेकर पानागढ़ स्थित वायुसेना के अड्डे पर उतरेगा।


बयान में कहा गया कि इसके अलावा वायुसेना का एक सी-19 विमान बैंकॉक से चार खाली क्रायोजेनिक ऑक्सीजन कंटेनर पानागढ़ लाने के लिये तैनात है जबकि एक अन्य सी-19 विमान बेल्जियम के ओस्टेंड से चार और खाली क्रायोजेनिक ऑक्सीजन कंटेनर पानागढ़ ला रहा है। इसके अलावा वायुसेना देश के अंदर भी ऑक्सीजन कंटेनरों के परिवहन के लिये कई उड़ान भर रही है।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत में कहर बरपा दिया है। बीते दो-तीन दिनों की कमी के बाद एक बार फिर से कोरोना के नए मामलों में बड़ी उछाल देखने को मिली है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने अबतक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं और एक दिन में बुधवार को 4.12 लाख से अधिक नए केस और करीब चार हजार मौतें हुई हैं। बता दें कि कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन में मिलने वाले कोरोना केस और मौतों की यह सर्वाधिक संख्या है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में बुधवार को 24 घंटे में कोरोना वायरस के 412,618 नए केस सामने आए। वहीं एक दिन में कोविड-19 से रिकॉर्ड 3982 लोगों की मौत के बाद इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या 2,30,010 से अधिक हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इन नए मामलों के बाद कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 2,10,64,862 हो गए हैं। बता दें कि इससे पहले 30 अप्रैल को एक दिन में चार लाख से अधिक कोरोना केस आए थे।