नई दिल्ली । अपनी मेजबानी में श्रीलंका टीम ने गुरुवार को तीसरे मुकाबले में भारत को सात विकेट से हराकर टी-20 सीरीज अपने नाम कर ली। इस बड़ी जीत के बाद श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने खिलाड़ियों पर जमकर पैसे बरसाए हैं और पूरी टीम के लिए 1 लाख डॉलर के नकद पुरस्कार की घोषणा की है। तीसरे मैच में कोविड से प्रभावित भारत का भाग्य केवल टॉस ने दिया, लेकिन पहले बल्लेबाजी का उसका फैसला सही नहीं रहा और टीम आठ विकेट पर 81 रन ही बना पाई।

पिच बल्लेबाजों के अनुकूल नहीं थी, लेकिन भारतीय गेंदबाजों के पास बचाव के लिए बेहद कम स्कोर था। श्रीलंका ने 14.3 ओवर में तीन विकेट पर 82 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की।

एसएलसी ने बयान में कहा, 'श्रीलंका क्रिकेट की कार्यकारी समिति ने खिलाड़ियों, कोचों और सहयोगी स्टाफ की इस बेहद जरूरी जीत के लिए जमकर तारीफ की और नेशनल टीम को 1,00,000 डॉलर (74.3 लाख रुपये) का पुरस्कार देने का फैसला किया है।' बता दें कि श्रीलंका ने भारत के खिलाफ पहली बार टी-20 सीरीज जीती। दोनों टीमों के बीच इससे पहले सात बाइलेटरल टी-20 सीरीज खेली गईं लेकिन हर बार भारत ही विजेता बनकर उभरा। दोनों टीमों के बीच 2008 में पहली बार टी-20 सीरीज खेली गई थी।

इस मैच में भारतीय टीम अपने न्यूनतम स्कोर पर आउट हो जाती, लेकिन कुलदीप 11 ओवर तक क्रीज पर जमे रहे। इससे भारत पूरे 20 ओवर खेलने और अपने न्यूनतम स्कोर (74 रन, बनाम ऑस्ट्रेलिया, 2008) को पार करने में सफल रहा। भारत का यह पूरे 20 ओवर खेलने के बाद टी-20 में न्यूनतम स्कोर है। भारत की तरफ से केवल चार चौके लगे। इस मैच में पिच से स्पिनरों को काफी मदद मिल रही थी और बल्लेबाजों के पास वानिंदु हसरंगा की बलखाती गेंदों का कोई जवाब नहीं था, जिन्होंने अपने जन्मदिन पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए मात्र नौ रन देकर चार विकेट लिए।