Rajmangal Times - राजधानी

नई दिल्ली । पराली के धुएं का असर कम होने पर भी दिल्ली की हवा दमघोंटू बनी हुई है। केंद्र द्वारा संचालित संस्था सफर के मुताबिक मंगलवार के दिन दिल्ली की हवा में पराली के प्रदूषण की हिस्सेदारी 27 फीसदी के लगभग रही। दो दिन पहले यह हिस्सेदारी 48 फीसदी तक पहुंच गई थी। दिल्ली के लोगों के लिए दीपावली के बाद से शुरू हुआ जहरीली हवा में सांस लेने का सिलसिला अभी थमता हुआ नहीं दिख रहा है।

नई दिल्ली । राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की हवा जहरीली बनी हुई है। आज भी हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में है। दावा किया गया कि यह दिवाली के बाद पांच साल में सबसे खराब वायु गुणवत्ता है। लोगों को सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही है। मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान विभाग के मुताबिक दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 432 के स्तर पर रहा। आपको बता दें कि दीपावली के बाद हवा की गुणवत्ता में भारी गिरावट दर्ज की गई, जो शुक्रवार की सुबह 'खतरनाक' श्रेणी में पहुंच गई थी।

नई दिल्ली । वर्ष 2019 की दिवाली के मुकाबले इस बार अगर 50 फीसदी भी पटाखे जले तो वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) गंभीर स्तर पर पहुंच सकता है। मौसम वैज्ञानिक सचिन पंवार के मुताबिक यदि इस बार पटाखों से उत्सर्जन होने वाला प्रदूषण 2019 के पटाखों से संबंधित उत्सर्जन का 50 फीसद भी रहा तो वायु गुणवत्ता सूचकांक चार नवंबर की रात से ही गंभीर श्रेणी में पहुंचने और छह नवंबर तक ऐसे ही बने रहने का अनुमान है।

नई दिल्ली । केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली समेत नौ राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में विशेषज्ञों के दल भेजे हैं, जहां डेंगू के अधिक मामले तेजी से सामने आ रहे हैं। इन दलों को राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों को प्रभावी जन स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने में सहायता तथा सहयोग करने का काम सौंपा गया है।

नई दिल्ली । पूर्वी निगम के 31 सफाई कर्मचारियों के आंगन में छोटी दीपावली बड़ी खुशियां लेकर आएगी। करीब दो दशक से अधिक वर्षो से अस्थायी तौर पर कार्य कर रहे इन कर्मचारियों को छोटी दीपावली पर स्थायी कर्मचारी होने के नियमीतीकरण नियुक्ति पत्र मिलने जा रहे हैं। पहले चरण में स्थायी होने जा रहे इन सफाई कर्मचारियों की सूची मंगलवार स्थायी समिति के चेयरमैन वीएस पवार ने जारी की।

नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस दिवाली के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए तकनीक का भरपूर इस्तेमाल कर रही है। बाजारों में भीड़ में छिपे असामाजिक तत्वों पर निगाह रखने के लिए फेस रिकग्निशन कैमरों की मदद ली जा रही है। वहीं, ड्रोन की सहायता से भी निगरानी की जा रही है। यही नहीं, दिल्ली पुलिस के महिला-पुलिसकर्मी सादी वर्दी में खरीदार के रूप में बाजारों में मौजूद हैं। साथ ही अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी प्रमुख बाजारों में तैनात किया गया है।

नई दिल्ली । दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण को रोकने के लिए गुरुवार से पेट्रोल-डीजल और केरोसीन से चलने वाले जेनरेटर पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हालांकि अस्पतालों, रेलवे, शॉपिंग मॉल की लिफ्ट जैसी आवश्यक सेवाओं को प्रतिबंध से छूट दी गई है। सड़क निर्माण आदि विशेष परिस्थितियों में अनुमति के बाद इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। पाबंदी लगने से बैंक्वेट हॉल, बड़ी सोसायटियों आदि में लोगों की परेशानी बढ़ सकती है।

ग्रेटर नोएडा । ग्रेनो वेस्ट में एक मूर्ति गोल चक्कर के समीप गाड़ी में सवार एक युवक की गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है। युवक का शव गाड़ी की ड्राइविंग सीट पर पड़ा मिला है। युवक के सिर और हाथ में गोली लगी लगी है। पुलिस को गाड़ी में शराब की बोतल और दो गिलास रखे मिले हैं। आशंका है किसी परिचित ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

नई दिल्ली । त्यौहारों के मौसम में मिलावटी खाद्य पदार्थों की जांच के लिए दिल्ली सरकार ने विशेष टास्क फोर्स का गठन किया है। यह टास्क फोर्स दिल्लीभर से मिलने वाली शिकायतों के अलावा अन्य खाद्य पदार्थों की औचक जांच करेगी। जिससे मिठाईयों के बढ़ी मांग को पूरा करने के लिए मिलावटी खोवा, दूध के उत्पाद बाजार में ना पहुंचे और लोगों की सेहत ठीक रहे।

नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली समेत पूरे एनसीआर क्षेत्र को अगले दो दशक में विश्व स्तरीय सुविधाओं से लैस कर उसे नया स्वरूप देने बड़ी तैयारी शुरू की जा रही है। 2041 तक समूचा एनसीआर झुग्गी-झोपड़ी मुक्त होगा। साथ ही एयर एंबुलेंस सुविधा और हेलिटैक्सी, सड़क, रेल एवं अंतर्देशीय जलमार्ग के माध्यम से उच्च कनेक्टिविटी से भी जुड़ जाएगा।

Videos

तुलसी संस्था व राजीव गांधी कैंसर इंस्टिट्यूट के सहयोग से कैंसर जांच शिविर का आयोजन

ताजा ख़बरें

Go to top

© Rajmangal Associates P. Ltd.