गुरुग्राम । राजस्थान के अलवर के एक परिवार द्वारा फर्जी रेप केस में फंसाए जाने से दुखी 30 वर्षीय ट्रांसपोर्टर ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान संदीप के तौर पर हुई है जो फरुखनगर इलाके का रहने वाला था। पुलिस ने सोमवार को आरोपी परिवार के चार सदस्यों को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है। मृतक के परिवार के सदस्यों ने बताया कि उसने अलवर निवासी साहब सिंह को तीन लाख रुपये उधार दिए थे।

संदीप पिछले कई महीनों से अपने पैसे वापस मांग रहा था। आरोपी उसके पैसे वापस करने की बजाय उससे और पैसे की मांग कर रहा था और 29 जुलाई को अलवर के फूलबाग महिला थाने में मृतक के खिलाफ 'फर्जी रेप केस' दर्ज कराया। मानसिक प्रताड़ना नहीं सहन कर पाने की वजह से संदीप ने रविवार को फरुखनगर के एक प्राथमिक विद्यालय परिसर के अंदर कथित तौर पर पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली।

सुसाइड से पहले चाचा को किया फोन

हालांकि उसने एक सुसाइड नोट लिखकर छोड़ा है जिसमें चारों लोगों को इस खौफनाक कदम को उठाने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। मृतक के चाचा मुनीश ने कहा, 'रविवार को अपना जीवन खत्म करने से ठीक पहले, मेरे भतीजे ने मुझे फोन पर बताया कि उसने सुसाइड नोट लिखा है और फिर कॉल काट दिया। मैंने उसे तुरंत फोन किया लेकिन उसकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया। बिना समय बर्बाद किए मैंने अपने दूसरे भतीजे संजीव को सूचित किया और परिवार ने जल्द ही संदीप की तलाश शुरू कर दी।'


कुछ घंटों बाद, परिवार ने प्रेमनगर प्राथमिक विद्यालय के परिसर के अंदर संदीप का शव एक पेड़ से लटका हुआ पाया। रविवार को स्कूल बंद था। मुनीष ने कहा, 'मौके पर पहुंचने के बाद मुझे संदीप की रेनो डस्टर जो स्कूल के बाहर खड़ी थी, से सुसाइड नोट मिला। दो पन्नों का नोट फरुखनगर थाने के एसएचओ के नाम लिखा गया है।' संदीप ने अपने सुसाइड नोट में साहेब और उसके परिवार को अपनी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

पुलिस ने दर्ज किया केस

मृतक के चाचा ने कहा, संदीप को साहेब और उसके परिवार वालों ने प्रताड़ित किया था। संदीप को रेप के फर्जी मामले में फंसाया गया था, जिसके चलते उसने आत्महत्या कर ली। मृतक के परिवार में उसकी पत्नी औप छह बच्चे हैं। जिसमें चार बेटियां और दो बेटे हैं। सुसाइड नोट और मुनीश की शिकायत के आधार पर साहब सिंह, उसकी पत्नी और उसके दो बेटों के खिलाफ सोमवार को फरुखनगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 306 और 34 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। मामले में पुलिस जांच जारी है।