गाजियाबाद । गाजियाबाद की मधुबन बापूधाम पुलिस ने वाहन चोरी करने वाले गैंग का सोमवार को खुलासा करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों में बारहवीं के तीन छात्र भी शामिल हैं। गैंग ने शौक पूरे करने के लिए तीन महीने पहले ही वाहन चुराना शुरू किया था। चारों आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने दस बाइक बरामद की है।

मधुबन बापूधाम थाना प्रभारी मुनेश कुमार ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में थाना मसूरी के काजीपुरा वेव सिटी निवासी दीपक यादव और अर्जुन तथा मधुबन बापूधाम में सीएनजी पंप के सामने रहने वाले निखिल कुमार एवं अमन शामिल हैं। अमन के अलावा बाकी तीनों आरोपी बारहवीं कक्षा के छात्र हैं।

पूछताछ में उन्होंने बताया कि घर से मिलने वाला जेब खर्च कम पड़ता था। शौक पूरे करने के लिए उन्होंने वाहन चुराने शुरू कर दिए थे। वह सार्वजनिक स्थानों पर रेकी करने के बाद अपने शिकार का टारगेट करते और फिर उसके वाहन पर हाथ साफ कर देते थे। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी चोरी की बाइक की नंबर प्लेट बदलकर उन्हें झाड़ियों में इकट्ठा करते थे, इसके बाद मजबूरी बताकर लोगों को बेच दिया करते थे।

निखिल ने बनाया गैंग

निखिल गैंग का सरगना है। उसने जेब खर्च देने व शाही जीवन जीने के लिए भरपूर पैसा देने का लालच देकर बाकी आरोपियों को अपने साथ शामिल निखिल ने पार्टी के लिए छुट्टी देने से मना करने पर अपने प्रिंसिपल की बाइक भी चोरी कर ली थी। ऐसा उसने प्रिंसिपल को सबक सिखाने के लिए किया था। आरोपी करीब तीन महीने से वाहन चोरी कर रहे थे। अब तक आरोपी 17-18 घटनाएं कर चुके हैं। बरामद वाहनों में से दो को आरोपी खुद इस्तेमाल कर रहे थे।