दनकौर | ग्रेटर नोएडा में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, दनकौर कस्बा निवासी एक युवती की 3 दिन बाद शादी है। मगर एक युवक उस पर शादी न करने का दबाव बना रहा है। बताया गया कि वह युवती का प्रेमी है। उस युवक ने धमकी दी है कि अगर युवती की बारात आई तो वह दूल्हे व बारातियों को जान से मार देगा। युवती के भाई ने मामले की शिकायत दनकौर पुलिस से करके सुरक्षा की गुहार लगाई है। वहीं, पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

दनकौर कस्बे में आगामी 19 मई को एक युवती की बारात आनी है। युवती के भाई ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि उनका पड़ोसी एक व्यक्ति विगत कुछ दिनों से उनकी बहन को फोन पर धमकी दे रहा है।

आरोप है कि रविवार की सुबह भी फोन पर आरोपी ने बारातियों पर हमला करने की बात कही है। आरोपी युवती पर शादी न करने का दबाव बना रहा है। पीड़ित ने बताया कि आरोपी युवक ने उनकी गली में आना-जाना ज्यादा कर दिया है।

परिजनों को दबंग युवक से जान का खतरा : आरोप है कि आरोपी के दबंग होने की वजह से उसका विरोध भी नहीं कर पा रहे हैं। परिजनों को आशंका है कि शादी से पहले या शादी वाले दिन आरोपी किसी अनहोनी वारदात को अंजाम दे सकता है। वहीं, पुलिस का कहना है कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है, जिसके बाद आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

प्रेमी युगल का कोतवाली में हंगामा

दनकौर। दनकौर कोतवाली में रविवार को एक प्रेमी युगल ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान दोनों पक्षों के लोग प्रेमी युगल को मनाने का प्रयास करते रहे, लेकिन दोनों ने किसी की बात नहीं मानी। पुलिस का कहना है कि दोनों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। क्षेत्र के एक गांव से पड़ोस के ही एक युवक-युवती करीब 5 दिन पहले घर से फरार हो गए थे। इस संबंध में लड़की पक्ष ने पुलिस से शिकायत की थी। पुलिस के मुताबिक, दोनों एक दूसरे से प्यार करते हैं। दोनों बालिग हैं, जिसे रविवार को पुलिस हरिद्वार से बरामद करके लाई। इसकी जानकारी पर दोनों के परिवार के लोग कोतवाली पहुंच गए, जहां प्रेमी युगल ने एक साथ रहने की जिद करते हुए हाईवोल्टेज ड्रामा किया। परिजन दोनों को मनाने का प्रयास करते रहे।


पुलिस युवक-युवती को अदालत में पेश करेगी

परिजनों के समझाने के बाद भी प्रेमी युगल नहीं माना। दोनों का कहना है कि वे एक-दूसरे के साथ ही रहेंगे। इस बारे में दनकौर कोतवाली प्रभारी राधा रमण सिंह का कहना है कि दोनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। कोर्ट के आदेश के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।