नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने उत्तर-पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से भाजपा सांसद और सूफी गायक हंस राज हंस को चुनावी हलफनामे में कथित तौर पर अस्पष्ट जानकारी देने के मामले में समन भेजा है।

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलि

टन मजिस्ट्रेट (एसीएमएम) धर्मेंद्र सिंह ने 12 जनवरी को जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत दाखिल दिल्ली पुलिस के आरोपपत्र पर संज्ञान लिया और गायक हंस राज हंस को 18 जनवरी को पेश होने के लिए समन भेजा है।


दिल्ली पुलिस ने हंस द्वारा अपनी शिक्षा और खुद की तथा अपने परिवार की आयकर देनदारियों के बारे में कथित तौर पर अस्पष्ट जानकारियां देने के मामले में आरोप पत्र दाखिल किया है। अदालत ने जांच अधिकारी को भी नोटिस जारी करते हुए उनसे जांच में हुई प्रगति के बारे में रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया है।

कांग्रेस नेता राजेश लिलोठिया ने हंस राज हंस के खिलाफ 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान कथित रूप से गलत हलफनामा देने को लेकर आपराधिक मामला दर्ज कराया था।

साढे़ पांच लाख वोटों से जीते थे हंस राज हंस

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर-पश्चिमी दिल्ली सीट पर हुए राजनीति के रोमांचक मुकाबले में भाजपा प्रत्याशी हंस राज हंस ने साढ़े 5 लाख से अधिक वोटों के साथ शानदार जीत दर्ज की थी। हंस राज हंस ने 'आप' के उम्मीदवार गुग्गन सिंह और कांग्रेस के राजेश लिलोठिया और को पराजित कर जीत का सेहरा अपने नाम किया था। इस सीट पर हुए त्रिकोणीय मुकाबले में तीनों ही बड़े दलों नए चेहरों पर दांव लगाया था।

भाजपा प्रत्याशी हंसराज हंस को 8,88,663 वोट मिले। वहीं, उनके प्रतिद्वंद्वी रहे 'आप' के गुग्गन सिंह को 2,94,766 वोट और कांग्रेस नेता राजेश लिलोठिया को 2,36,882 वोटों से ही संतोष करना पड़ा था। दिल्ली में 12 मई 2019 को वोट डाले गए थे।

उत्तर-पश्चिमी दिल्ली सीट मतदाताओं की संख्या के लिहाज से सबसे बड़ी लोकसभा सीट है। यह सुरक्षित सीट है। बाहरी दिल्ली के अधिकतर गांव इस सीट का हिस्सा हैं। उत्तर-पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट के अंतर्गत सुल्तानपुर माजरा, मंगोलपुरी, किराड़ी, समयपुर बादली, नरेला, नांगलोई, मुंडका, रिठाला, बवाना और रोहिणी जैसे विधानसभा क्षेत्र आते हैं।