नई दिल्ली । गणतंत्र दिवस में इस बार फिर दिल्ली की झांकी दिखाई नहीं देगी। परेड में शामिल होने वाली झांकियों को चयन करने वाली केंद्र सरकार की समित ने दिल्ली की झांकी को इसमें शामिल नहीं किया है। यह लगातार दूसरा साल है जब दिल्ली की झांकी दिखाई नहीं देगी। वर्ष 2020 में भी दिल्ली सरकार की झांदी गणतंत्र दिवस परेड में दिखाई नहीं दिया था। दिल्ली सरकार की झांकी परेड में शामिल नहीं करने पर फिलहाल सरकार कुछ बोलने को तैयार नहीं है।


बताते चले दिल्ली सरकार ने इस बार झांकी के लिए तैयारी शुरू कर दी थी। देश की आजादी के 75वां साल होने के नाते अमृत महोत्सव चल रहा है। उसे देखते हुए सरकार की ओर से इस बार गणतंत्र दिवस परेड के लिए उम्मीदों का दिल्ली शहर विषय पर झांकी तैयार करने की तैयारी थी। दिल्ली सरकार के कला एवं संस्कृति विभाग के तहत आने वाली साहित्य कला परिषद ने इस विषय पर झांकी की संकल्पना व डिजाइन तैयार कर रही थी।

बताते चले यह पहला मौका नहीं है जब दिल्ली सरकार की झांकी गणतंत्र परेड दिवस में शामिल नहीं हो रही है। इससे पहले 2018, 2020 में भी दिल्ली की झांकी गणतंत्र दिवस परेड में नहीं आई थी। जबकि 2017 में दिल्ली के मॉडल स्कूलों पर आधारित झांकी भेजी गई थी। फिर 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की थीम पर आधारित झांकी बनाई गई थी, जिसमें गांधी जी के दिल्ली में बिताएं गए 720 दिनों को दर्शाया गया था।