नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने वाहन चोरों के एक बड़े अंतर्राज्यीय गैंग का पर्दाफाश कर 4 आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए 21 लग्जरी गाड़ियां बरामद की हैं, जिसमें 10 फॉर्च्यूनर कार शामिल हैं। इस गैंग के सदस्य मणिपुर, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश से जुड़े हैं। गैंग का सरगना शारिक हुसैन उर्फ सत्ता दुबई से इस गैंग को ऑपरेट करता था।

साउथ वेस्ट जिला ऑपरेशन यूनिट के एसीपी अभिनेद्र जैन के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों की पहचान यूपी के अमरोहा के रहने वाले आबिद, मेरठ के रहने वाले मोहम्मद आशिफ, मणिपुर के सेगोलसेम जॉनसन और इंदौर निवासी सलमान के रूप में हुई है। इस गैंग के पास से बरामद गाड़ियों की कीमत 5 करोड़ से ज्यादा बताई जा रही है।

इन गाड़ियों की बरामदगी इंफाल और इंदौर से की गई है। दिल्ली के एक शख्स ने जब अपनी कार चोरी की शिकायत पुलिस को दी तो तफ्तीश के बाद इस गैंग का खुलासा हुआ। सीसीटीवी और इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के जरिए सबसे पहले अमरोहा के आबिद को गिरफ्तार किया गया। उसने खुलासा किया कि उसने चोरी की कार अमीर सफर और सिंकदर नाम के शख्श से हासिल की थी। पुलिस जांच में पता चला कि दुबई में बैठा गैंग का सरगना शारिक हुसैन उर्फ सत्ता दिल्ली एनसीआर और दूसरे राज्यों में अपने गुर्गों की मदद से यह रैकेट चला रहा था।

पुलिस के मुताबिक, जब दिल्ली के एक परिवार की गाड़ी चोरी हुई तो उनका 4 साल का बच्चा सदमे में चला गया था, जिसके बाद पुलिस ने इस परिवार के अलावा और तमाम गाड़ियां बरामद कीं। इसके बाद बच्चे की हालत में सुधार हुआ। वहीं, जब अपनी गाड़ी लेने ये बच्चा परिवार के साथ पुलिस के पास पहुंचा तो गाड़ी देखकर फूला नहीं समाया। दरअसल, पुलिस ने उस बच्चे के पिता की गाड़ी में बैलून भरकर बच्चे को गाड़ी वापसी का तोहफा दिया था।