नई दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को राजधानी में बहने वाले गंदे नालों, यमुना की सफाई को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि 2025 तक यमुना की सफाई कर दी जाएगी। युद्ध स्तर पर इसका काम जारी है। दिल्ली में बहने वाले गंदे नालों की सफाई को लेकर दिल्ली सरकार के प्रयासों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि ओखला और रिठाला सहित कई जगहों पर नए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बन रहे हैं।


इसके अलावा जो प्लांट पहले से बने हैं वे पुराने हिसाब से चल रहे हैं। इसलिए हम तकनीक बदल रहे हैं ताकि सीवर से पानी साफ होकर बाहर निकले। उन्होंने कहा कि कुछ नालों को डायवर्ट किया जाएगा। सीएम ने बताया कि नजफगढ़ और गाजीपुर ड्रेन की सफाई का काम शुरू हो गया है।

केजरीवाल ने कहा कि गंदगी को लेकर इंडस्ट्रीज पर नकेल कसी जाएगी। इंडस्ट्रियल वेस्ट पर काम किया जाएगा। जो इंडस्ट्री वेस्ट नहीं भेजेगी उसे बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि झुग्गी की गंदगी को सीवर में डाला जाएगा। अगले चुनाव से पहले आपको मैं साफ पानी में डुबकी लगवाऊंगा।

ये है दिल्ली सरकार का एक्शन प्लान
- दिल्ली के सीवर को बिना ट्रीट किए यमुना में गिरा दिया जाता है। सीवर ट्रीटमेंट पर युद्ध स्तर पर काम किया जाएगा। नए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनाए जा रहे हैं। तकनीक बदलकर पुराने प्लांट की क्षमता बढ़ाई जा रही है।
- 4 गंदे नालों की सफाई की जाएगी। कुछ को एसटीपी की तरफ डाइवर्ट किया जाएगा।
- इंडस्ट्रियल वेस्ट की सफाई कागजों में होती है। वेस्ट को बिना ट्रीट किए नाले में डालने वाली इंडस्ट्रिज को बंद करेंगे।
- झुग्गी-झोपड़ी की गंदगी को नालियों में बहा दिया जाता है। उन्हें सीवर से अटैच किया जाएगा।
- कम कीमत पर सीवर का कनेक्शन लगाएंगे। कई लोगों ने सीवर के कनेक्शन नहीं लिए हैं।
- सीवर नेटवर्क की डिसिंटिंग का काम शुरू कर दिया गया है।