नई दिल्ली । पूर्वी निगम के 31 सफाई कर्मचारियों के आंगन में छोटी दीपावली बड़ी खुशियां लेकर आएगी। करीब दो दशक से अधिक वर्षो से अस्थायी तौर पर कार्य कर रहे इन कर्मचारियों को छोटी दीपावली पर स्थायी कर्मचारी होने के नियमीतीकरण नियुक्ति पत्र मिलने जा रहे हैं। पहले चरण में स्थायी होने जा रहे इन सफाई कर्मचारियों की सूची मंगलवार स्थायी समिति के चेयरमैन वीएस पवार ने जारी की।

वर्ष 1995 से दिल्ली नगर निगम में दैनिक मजदूरी पर लगे सफाई कर्मचारी ज्ञानचंद, सुनील, कमलेश संगीता, संजय सहित अन्य कर्मचारी ऐसे हैं जिनकी सेवानिवृत्ति की तारीश धीरे-धीरे नजदीक आ रही है।

ये कर्मचारी सालों से मन में इस बात की आशा रखे हुए थे कि एक दिन उन्हें स्थायी कर्मचारी बना दिया जाएगा जिससे उनके वेतन, बोनस सहित अन्य सुविधाओं में इजाफा होगा। लेकिन इन सफाई कर्मचारियों की आंखे स्थायी होने के इंतजार में कमजोर होती चली गई और इस छोटी दीपावली पर उनका इंतजार खत्म हो रहा है।

निगमायुक्त विकास आंनद और स्थायी समिति के चेयरमैन वीएस पावर ने इस बात की घोषणा कर दी है कि पहले चरण में 31 दैनिक मजदूरी पर रखे गए सफाई कर्मचारियों को स्थायी किया जा रहा है। उन्हें छोटी दीपावली के दिन पूर्वी निगम के मुख्यालय में नियमीतीकरण के नियुक्ति पत्र सौंपे जाएंगे।

बताया गया कि सूची में ऐसे सफाई कर्मचारी भी शामिल हैं जिनके पिता या पति की मौत हो गई और उनके परिवार से किसी व्यक्ति को दैनिक मजदूरी पर नौकरी दी गई। अब ऐसे सफाई कर्मचारियों को भी नियमीतीकरण का नियुक्ति पत्र सौंपा जाएगा। इस सूची में रामवती, अनिता, उमेश सहित अन्य सफाई कर्मचारी शामिल हैं। निगमायुक्त का कहना है कि जिन कर्मचारियों की फाईल क्लीयर हो गई हैं उनको नियुक्ति पत्र सौंपे जा रहे हैं और दूसरे चरण में अन्य कर्मचारियों को सौंपे जाएंगे।