नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस दिवाली के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए तकनीक का भरपूर इस्तेमाल कर रही है। बाजारों में भीड़ में छिपे असामाजिक तत्वों पर निगाह रखने के लिए फेस रिकग्निशन कैमरों की मदद ली जा रही है। वहीं, ड्रोन की सहायता से भी निगरानी की जा रही है। यही नहीं, दिल्ली पुलिस के महिला-पुलिसकर्मी सादी वर्दी में खरीदार के रूप में बाजारों में मौजूद हैं। साथ ही अर्धसैनिक बलों के जवानों को भी प्रमुख बाजारों में तैनात किया गया है।

दिल्ली पुलिस के अधिकारी ने बताया कि राजधानी के प्रमुख बाजारों में भीड़ को देखते हुए सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। अर्धसैनिक बलों की करीब 50 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की गई हैं। भागीरथ पैलेस, ओल्ड लाजपात राय मार्केट, कूचा महाजनी, खारी बावली, सदर बाजार, लाजपत नगर, लक्ष्मी नगर और शाहदरा आदि प्रमुख बाजारों में फेस रिकग्निशन कैमरे लगाए गए हैं। इसका उद्देश्य संदिग्धों और असामाजिक तत्वों पर अंकुश लगाना है। इसके साथ ही ड्रोन कैमरों से भी नजर रखी जा रही है। दिवाली के दिन भी इसका इस्तेमाल किया जाएगा।

मचान से सुरक्षाकर्मी नजर रख रहे
प्रमुख बाजारों में मचान पर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। सुरक्षाकर्मी मचान से इलाके में नजर रख रहे हैं। पुलिस द्वारा लोगों को जागरूक करने के लिए लगातार घोषणाएं भी कराई जा रही हैं। वहीं, सादी वर्दी में महिला और पुरुष पुलिसकर्मी खरीदार के तौर पर बाजार में गश्त कर रहे हैं।


मेटल डिटेक्टर से जांच
आईज एंड ईयर योजना के तहत लोगों से संदिग्ध वस्तु और व्यक्ति को देखने पर पुलिस को सूचित करने के लिए कहा जा रहा है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाजारों के प्रवेश मार्ग पर गेट लगाकर लोगों को रोका जा रहा है, जिससे अधिक भीड़ जमा न हो सके। साथ ही जो कोरोना से बचाव का नियम पालन नहीं कर रहे हैं, उनके चालान भी काटे जा रहे हैं। बाजारों में पुलिसकर्मियों द्वारा मेटल डिटेक्टर से भी लोगों व वाहनों की जांच की जा रही है।

जनभागीदारी पर जोर
पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाजारों में सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए स्थानीय लोगों, कारोबारी और मार्केट एसोसिएशन के पदाधिकारियों का सहयोग लिया जा रहा है। सदर बाजार, सरोजिनी नगर, कनॉट प्लेस और चांदनी चौक मार्केट में खासी भीड़ होती है। त्योहारी सीजन में यह और बढ़ जाती है। इस स्थिति में मार्केट की सुरक्षा कड़ी करने के साथ महामारी से बचाव के एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। इन स्थानों पर 24 घंटे पुलिसकर्मियों की तैनाती सुनिश्चित की जा रही है।


दिवाली पर 3,000 दमकलकर्मी तैनात रहेंगे
दिवाली पर किसी भी तरह के हादसे से निपटने के लिए दिल्ली में 3,000 दमकलकर्मियों की तैनाती की गई है। दिल्ली अग्निशमन सेवा (डीएफएस) के दमकलकर्मी दो दिन तक 30 से अधिक विशिष्ट स्थानों पर मौजूद रहेंगे। दमकल अधिकारी ने बताया कि डीएफएस नियंत्रण कक्ष दिवाली पर ज्यादातर फोन कॉल का जवाब देता है और दमकलकर्मियों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए हर समय तैयार रहना होता है। राष्ट्रीय राजधानी में एक जनवरी 2022 तक पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर पूरी तरह प्रतिबंध है।