नई दिल्ली । दिल्ली विकास प्राधिकरण की ओर से सस्ते घर किराये पर उपलब्ध कराने की योजना पर काम शुरू हो गया है। डीडीए की ओर से योजना को शुरू करने के लिए दिलशाद गार्डन और बुराड़ी के इलाकों को चुना गया है। पहले चरण में यहां 1500 फ्लैट बनाने की योजना पर डीडीए काम कर रहा है। डीडीए बोर्ड की बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लगने की संभावना है। बोर्ड की बैठक से मंजूरी मिलने के बाद जल्द ही योजना को जमीन पर उतारा जा सकेगा।

डीडीए की अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग स्कीम (एआरएचसी) को मास्टर प्लान-2021 में शामिल किया गया है। इस स्कीम में दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों और गरीबों का ख्याल रखा गया है। डीडीए बोर्ड की ओर से योजना को अंतिम मंजूरी मिल चुकी है। इस योजना से सरकार को निजी जमीन पर रेंटल स्कीम लागू करने में मदद मिलेगी। इस तरह के हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में मिक्स फ्लैट रहेंगे। इनमें सिंगल और डबल बेडरूम के अलावा 4/6 बेड वाली डोरमेट्री भी शामिल होंगी। इन डोरमेट्री में सभी सुविधाएं कॉमन होंगी। इसमें अधिक एफएआर 50 प्रतिशत तक रहेगा। इस पॉलिसी में एक निश्चित जगह को कमर्शियल स्थान की तरह इस्तेमाल किया जा सकेगा। डवलेपर इसे बेच या किराये पर दे सकेंगे। इस तरह के कॉम्प्लेक्स वर्क प्लेस के आसपास बनाए जाएंगे।

योजना में छात्रों, अकेले रहने वाले युवाओं के लिए सस्ते घर, किराये के घर, होस्टल, स्टूडियो अपार्टमेंट, सर्विस अपार्टमेंट, डोरमेट्री आदि पर फोकस किया गया है। रेंटल और सस्ते घर को उन इलाकों में अधिक बढ़ावा देने पर जोर दिया गया है, जो ट्रांजिट एरिया के पास हों। साथ ही काम करने वाले स्थान के पास ऐसे घरों को बढ़ावा दिया जा सकता है, ताकि लोगों को काम पर जाने के लिए दूरी तय न करनी पड़े।