नई दिल्ली | कोरोना महामारी के बेकाबू होने के बीच बेंगलुरु के रहने वाले राहुल राज ने इंसानियत की बड़ी मिसाल पेश की है। वह दिल्ली में भर्ती एक अनजान कोरोना संक्रमित मरीज की जान बचाने के लिए प्लाज्मा दान करने बेंगलुरु से दिल्ली आ गए।

प्लाज्मा थेरेपी मिलने के बाद मरीज की तबीयत में काफी सुधार है।

दिल्ली के विजय की मां उर्मिला कोरोना पीड़ित हैं। 9 अप्रैल को उन्हें मनीपाल अस्पताल में भर्ती किया गया। हालत बिगड़ने पर डॉक्टर ने प्लाज्मा थेरेपी के लिए एबी पॉजिटिव प्लाज्मा का इंतजाम करने को कहा, काफी कोशिश के बाद भी दिल्ली में डोनर नहीं मिला। इसके बाद सोशल मीडिया पर गुहार लगाई गई।

यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास ने सोशल मीडिया पर मार्मिक अपील सुन इसी ब्लड ग्रुप के राहुल राज से संपर्क किया जो बेंगलुरु में रहते हैं। राहुल ने हिन्दुस्तान से बातचीत में कहा कि जब उन्हें पता चला कि उनके प्लाज्मा की दिल्ली में किसी मरीज को सख्त जरूरत है तो वो अगले दिन बेंगलुरु से फ्लाइट लेकर सीधे दिल्ली के द्वारका स्थित मनीपाल अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने प्लाज्मा दान किया और वापस बेंगलुरु चले गए। विजय ने बताया राहुल ने फ्लाइट के भी पैसे नहीं लिए।

दिल्ली में कोविड-19 के 16000 से अधिक नए केस

दिल्ली में गुरुवार को कोविड-19 के 16,699 नए मामले आए और संक्रमण के कारण 112 मौतें हुईं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, राजधानी में एक दिन पहले संक्रमण के 17,282 नए मामले सामने आए थे, जो अब तक के सर्वाधिक मामले हैं। पिछले कुछ दिनों से मामले काफी बढ़ रहे हैं। बुधवार को 82,569 जांच की गई, जो मंगलवार को की गई 1.08 लाख जांच की तुलना में कम है।

बुलेटिन के अनुसार, शहर में 16,699 नए मामले आए और 112 नई मौतें हुईं, जिससे शहर में मरने वालों की संख्या बढ़कर 11,652 हो गई। गुरुवार को संक्रमण दर 20.22 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो दिल्ली में अब तक का सर्वाधिक है। कोरोना वायरस महामारी की चौथी लहर से जूझ रही दिल्ली ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को भी दैनिक मामलों में बहुत पीछे छोड़ दिया है, जो देश में सबसे अधिक प्रभावित शहर बन गया है। बुधवार को संक्रमण दर 15.92 फीसदी थी। गुरुवार तक संक्रमण के कुल 7,84,137 मामले हो चुके हैं। 7.18 लाख से अधिक मरीज वायरस से उबर चुके हैं। बुलेटिन के अनुसार, एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 54,309 हो गई है।