नई दिल्ली | दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 17 हजार से ज्यादा नए केस दर्ज किए गए जिसके बाद राष्ट्रीय राजधानी ने रोज आने वाले नए केसों के मामले में मुंबई को भी पीछे छोड़ दिया है। मुंबई में 4 अप्रैल को एक दिन में अभी तक के सबसे ज्यादा 11 हजार 613 मामले सामने आए थे।

बुधवार को बेंगलुरु में कोरोना के 8,155, चेन्नई में 2,564 नए मामले दर्ज किए गए जो अब तक इन शहरों का सबसे बड़ा उछाल है। पुणे में भी 4 अप्रैल को 12 हजार 494 नए मामले सामने आए थे, जो कि अब तक सबसे ज्यादा मामले थे।

वहीं, दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस के कुल 17 हजार 282 नए मामले दर्ज किए गए। महामारी के बाद से यह दिल्ली में एक दिन के अंदर आए कोरोना के सर्वाधिक मामले हैं। वहीं, इस दौरान 100 लोगों ने कोरोना की वजह से दम तोड़ दिया। आंकड़ों को देखें तो दिल्ली ने हर दिन आ रहे नए मामलों को लेकर मुंबई को काफी पीछे छोड़ दिया है।

दिल्ली में पिछले कुछ दिनों के अंदर अचानक हुए कोरोना विस्फोट ने डॉक्टरों और मेडिकल एक्सपर्ट्स को हक्का-बक्का कर दिया है। कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि वायरस में कई बदलाव हुए हैं और इसके कई स्ट्रेन हैं, जिसकी वजह से संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

बता दें कि गुरुवार को भी दिल्ली में कोरोना वायरस के 16 हजार 699 नए मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, इससे 112 लोगों ने दम तोड़ा है। गुरुवार को संक्रमण दर 20.22 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो दिल्ली में अब तक का उच्चतम है। दिल्ली में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 54,309 हो गई है।