नई दिल्ली | देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दिल्ली में आज रिकॉर्ड 17,282 नए मामले सामने आए हैं। इसी बीच दिल्ली सरकार ने 14 प्राइवेट अस्पतालों को पूरी तरह से कोविड अस्पताल घोषित कर दिया है।

ये अस्पताल अब किसी भी नॉन कोविड मरीज को भर्ती नहीं कर पाएंगे। ये अस्पताल कोविड के इलाज के लिए कुल 3,553 बेड उपलब्ध कराएंगे। साथ ही इन अस्पतालों को अस्थायी रूप से 35 प्रतिशत तक बेड क्षमता बढ़ाने की अनुमति होगी। ये जानकारी बुधवार को दिल्ली सरकार ने दी।

ये हैं उन 14 अस्पतालों के नाम

इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल, सरिता विहार
सर गंगा राम हॉस्पिटल,
होली फैमिली हॉस्पिटल, ओखला
महाराजा अग्रसेन हॉस्पिटल, पंजाबी बाग
मैक्स एसएस हॉस्पिटल, शालीमार बाग
फोर्टिस हॉस्पिटल, शालीमार बाग
वेंकटेश्वर हॉस्पिटल, द्वारका
श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट, पश्चिम विहार
जयपुर गोल्डन हॉस्पिटल, रोहिणी
माचा चनन देवी हॉस्पिटल, जनकपुरी
पुष्पावती सिंघानिया हॉस्पिटल, साकेत
मनीपाल हॉस्पिटल, द्वारका
सरोज सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल
एक दिन में मिले 17,282 नए मरीज
दिल्ली में बुधवार को पहली बार सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए कोरोना के 17,000 से अधिक नए पॉजिटिव केस आने से सरकार की टेंशन और बढ़ गई है। अब संक्रमित मरीजों का कुल आंकड़ा भी बढ़कर 7.67 लाख के पार पहुंच गया है। इसके साथ ही अब पॉजिटिविटी रेट भी 15.92 फीसदी पर आ गया है। कोरोना संक्रमण से आज 100 से अधिक मरीजों की मौत भी हो गई।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार को जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, बीते 24 घंटे में जहां कोरोना के 17,282 नए मरीज मिले हैं, वहीं 104 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों का कुल आंकड़ा बढ़कर 11,540 पर पहुंच गया है। मंगलवार को 13,468 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी।