नई दिल्ली | कोरोना की दूसरी लहर के शुरू होने के साथ ही फार्मा कंपनियों के शेयरों में निवेशकों ने पैसा झोंकना शुरू कर दिया है। बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चलाए जाने से फार्मा और हेल्थकेयर उत्पाद बनाने वाली कंपनियों को मोटा फायदा होने की उम्मीद की जा रही है।

लिहाजा इनके शेयरों में जबरदस्त उछाल दर्ज हो रहा है।

नए स्तर पर इंडेक्स

एसएडंपी बीएसई हेल्थकेयर इंडेक्स नई ऊंचाई पर पहुंच गया है। दवा निर्माता कंपनियों सिप्ला, कैडिला, डॉ. रेड्डीज, सनफार्मा, जुबिलेंट, डीवीज लैब ने अपना उत्पादन बढ़ाने की घोषणा की है तो निवेशकों नें इन कंपनियों में अपना निवेश बढ़ा दिया है।

स्पूतनिक वी गेम चेंजर होगी

स्पूतनिक वी को मंजूरी मिलना डॉ. रेड्डीज लैब के लिए फायदे का सौदा होगा इसका रूसी कंपनी से करार है। उसने 20 करोड़ डोज का करार किया था जो अब बढ़कर 25 करोड़ डोज हो चुका है। रूस और दक्षिण कोरिया से शुरुआती आपूर्ति के बाद 2021 की तीसरी तिमाही में भारत में उत्पादन शुरू हो जाएगा। इसी महीने में डॉ. रेड्डीज, सिप्ला और कैडिला के शेयर 10 से 14 फीसदी तक चढ़ चुके हैं।

निफ्टी फार्मा मे तेजी का दौर

निफ्टी फार्मा भी अप्रैल में चार फीसदी तक उछल चुका है। वर्ष 2020 में निफ्टी फार्मा 61 फीसदी चढ़ा था जबकि निफ्टी सिर्फ 15 फीसदी की तेजी दर्ज हुई थी। विशेषज्ञों को उम्मीद है कि फार्मा सेर्चर को सात से लेकर 25 फीसदी तक शुद्ध लाभ हो सकता है। इस महीने निफ्टी फार्मा इंडेक्स चार फीसदी चढ़ा है वहीं मुख्य निफ्टी में तीन फीसदी का घाटा दर्ज हुआ है।